13 मुखी रुद्राक्ष के बारे में सम्पूर्ण और सटीक जानकारी

13  मुखी रुद्राक्ष एक रुद्राक्ष की सृलंख्ला में एक बहुत रहस्य को अपने बितर समाये हुए हैं | जन साधारण रूप से १३ मुखी रुद्राक्ष को काम देव से जोर कर देखा जाता हैं | परन्तु यह आधा सत्य है | अगर आप पुरुष है यह अआप काम देव से जुड़े हुए हाव भाव की वृद्धि करता है ,और अगर आप महिला तोह आप में व्यक्तित्व में देवी रति की वृद्धि करता है |

13 मुखी ज्योतिष शास्त्र के अनुशार शुक्र गृह को प्रभावित करता है , अगर आप कुंडली में शुक्र गृह कमजोर या सुप्त अवस्था में है या गलत स्थान पे बैठा है तो  आप उचित ज्योतिष परामर्श के सुझाओ के बाद १३ मुखी रुद्राक्ष धारण कर सकते है |

तेरह’ मुखी रुद्राक्ष स्वाधिष्ठान चक्र पे प्रभाव डालता है | स्वाधिष्ठान चक्र के साथ यही विचित्रता है अगर आप का स्वाधिष्ठान  नकारात्मक भावनाएं उत्पन्न होती हैं, उस दौरान हम पूरी तरह से अपना संतुलन खो सकते हैं। इस तरह के व्यक्ति के अन्दर निम्न दुर्गुण होते है जैसे  क्रूरता आलस्य प्रमाद, अवज्ञा, अविश्वास

जब मनुष्य के अंदर यह चक्र जागृत हो जाता है तो उस दौरान मनुष्य की दशा बदल जाती है।

इस चक्र में प्रसन्नता, निष्ठा, आत्मविश्वास और ऊर्जा जैसे गुण पैदा होते हैं। इस चक्र का देवता ब्रह्मा सृष्टिकर्ता और उनकी पुत्री सरस्वती बुद्धि और ललितकलाओं की देवी है।

 

13 मुखी रुद्राक्ष पहनने के लाभ

  • 13 मुखी रुद्राक्ष आकर्षण को बढ़ने वाला रुद्राक्ष है | अर्थात किसी की प्रकार का पाने से अपोजिट जेंडर का आकर्षण में वृद्धि करना |
  • 13 मुखी रुद्राक्ष का प्रयोग तंत्र क्रियाओ में भी होता है |
  • अगर महिला को गर्भ धारण करने में मुश्किल हो रही है तो तेरह मुखी रुद्राक्ष धारण कर सकती हैं इसे उनको लाभ मिलेगा
  • अगर आप का कार्य लोगो से जुर कर और लोगो में रहा कर करने वाला है जैसे : – राजनेता , न्यूज़ एंकर , न्यूज़ रिपोर्टर इत्यादि | तो  आप के लिए 7 मुखी रुद्राक्ष के साथ 13 मुखी रुद्राक्ष धारण करना चाइये |
  • 13 मुखी रुद्राक्ष और 7 मुखी रुद्राक्ष को अगर कॉम्बिनेशन बना कर पहना जाये तो  काफी प्रभावी होता है |

 

13 मुखी रुद्राक्ष धारण करने की विधि

13 मुखी रुद्राक्ष (13 Mukhi Rudraksha) पहनने से पहले सुनिश्चित करें कि आप इसे पहनने का अधिकतम लाभ हासिल करने के लिए किसी विशेषज्ञ ज्योतिषी से अभिमंत्रित कराकर इसे प्राप्त करें। आपको यह सुनिश्चित करने की आवश्यकता है कि आप अपने पैसे का रुद्राक्ष खरीदें। यदि आप ऐसा करते हैं, तो यह उस तरह से काम करेगा जैसा आप परिणाम चाहते हैं।

पहनने का दिन: 13 मुखी रुद्राक्ष पहनने के लिए सोमवार का दिन शुभ माना जाता है। पहनने से पहले आप को कच्चे दूध या गंगाजल से इस रुद्राक्ष को परिमार्जित करना चाहिए। इसके बाद “ॐ ह्रीं नमः”मंत्र का जाप करना चाहिए। यह भी सलाह दी जाती है कि 13 मुखी रुद्राक्ष को सोने या चांदी की माला के साथ पहनना चाहिए या इसे लाल धागे के साथ पहनना चाहिए। तुला राशि के जातकों के लिए यह मनका लाभकारी होता है।

नोट: सुनिश्चित करें कि रुद्राक्ष आपके शरीर से सीधे संपर्क में रहे, ताकि इसका प्रभाव आपको पूर्णतया दिखाई दे।

13 Mukhi Rudraskha Back Side

13 मुखी रुद्राक्ष का मूल्य

रुद्राक्ष की कीमत लगापना थोडा मुश्किल है क्यों की रुद्राक्ष का मूल्य काफी चीजों पे निर्भर करता है जैसे साइज़ , वेट , कलर , और प्राकृतिक बनावट | साथ में रुद्राक्ष की प्राइस उस के मूल उत्पति पे भी निर्भर करती है जैसे रुद्राक्ष नेपाली है या इन्दोनेसियन (Java) . दोनों में मूल्य का काफी अंतर देखने को मिलता है |

जहा नेपाली रुद्रखा की साइज़ बढ़ी होती है और रुद्राक्ष के मुख साफ़ दीखते है | वही इन्डोनेशियाई रुद्राक्ष काफी छोटे साइज़ में आते है  और उनका मूल्य भी नेपाली रुद्रस्खा से काफी कम होता है

Item added to cart.
0 items - 0.00